संत महात्मा की कहानी

संत महात्मा की कहानी

संत महात्मा की कहानी एक संत थे। उनके बाल एकदम सफेद थे। उन्‍होंने बहुत वर्षों तक तपस्‍या की थी।

सफेद बाल उनकी लंबी तपस्‍या की पहचान थे।

एक दिन प्रात:काल का समय था। वह संत अपने शिष्‍यों को उपदेश दे रहे थे—“मनुष्‍य में अहंकार यानी घमंड नहीं होना चाहिए।

उसका सच्‍चा रूप विनम्रता है।“

कुछ देर बाद एक शिष्‍य ने पूछा—“गुरुजी, कहते हैं ज्ञान की कोई सीमा नहीं है।

आपसे ज्ञान प्राप्‍त करने के बाद हमें ऐसे कौन से तपस्‍वी के पास जाना चाहिए जो आपसे भी अधिक ज्ञानी हो?”

संत को शिष्‍य की यह बात शायद अच्‍छी नहीं लगी। उन्‍होंने कहा—“मैंने जीवन भर तपस्‍या की है।

मेरे सूखे शरीर और बालों को देखकर तुम इसका अनुमान लगा सकते हो। फिर भला मुझसे बड़ा तपस्‍वी और ज्ञानी इस धरती पर कौन हो सकता है?

तुम्‍हें अपने ज्ञान की सीमा यहीं तक मान लेनी चाहिए।“

जिस वृक्ष के नीचे बैठकर वह संत उपदेश दे रहे थे, उसकी एक डाल पर तोता-मैना बैठे थे।

वे आपस में बातें करने लगे—“यह कैसा संत है। अभी कह रहा था कि घमंड नहीं करना चाहिए।

जबकि इसे स्‍वयं अपनी तपस्‍या पर इतना घमंड है। शायद इसे नहीं मालूम कि विनम्रता क्‍या होती है।

विनम्रता तो वह तपस्‍या है जो बड़े-बड़े शक्तिशाली व्‍यक्ति को अपने सामने झुका सकती है।

अगर यह पुष्‍कर के संत के पास जाए जो पता चल जाए कि कौन बड़ा तपस्‍वी है।“

वह संत पक्षियों की बोली समझते थे। पुष्‍कर के संत की प्रशंसा सुनकर उन्‍होंने पुष्‍कर के संत से मिलने का निश्‍चय किया।

अगले ही दिन वह संत पुष्‍कर की यात्रा पर चल दिए।

जब वह पुष्‍कर के संत के आश्रम में पहुँचे तब देखा, वह एक चबूतरे पर बैठे हैं और शिष्‍यों को उपदेश दे रहे हैं।

संत ने उनके निकट पहुँचकर कहा—“तुम धूर्त हो, मूर्ख हो, पाखंडी हो…।“

इस तरह एक अनजान संत द्वारा अपने गुरु का अपमान शिष्‍यों को सहन नहीं हुआ।

किंतु उनके कुछ कहने से पहले ही वह संत उठे और बोले”महात्‍माजी, सचमुच ज्ञानी तो आप हैं।

आपने मुझे यह नया ज्ञान दिया है। इस आसन पर तो आपको बैठना चाहिए। आइए, मेरा स्‍थान तो नीचे है।“

वह संत पुष्‍कर के संत की विनम्रता के सामने पानी-पानी हो गए। उन्‍होंने कहा—“जो क्रोध में भी ज्ञान का दीप जला ले,

उससे महान् भला और कौन हो सकता है? सचमुच आप मुझसे भी महान् तपस्‍वी हैं।“

से भी पढ़े: लोमड़ी की साजिश

नवीनतम सरकारी रोजगार समाचार हेतु इस वेबसाइट में विजिट करे :  https://freesolution.in

Close
Social profiles