अंतिम शिक्षा

अंतिम शिक्षा अंतिम शिक्षा एक साधु थे। उनका बहुत बड़ा आश्रम था। उसमें बहुत से विद्यार्थी रहते थे। वे साधु से विद्या प्राप्‍त करते थे। साधु उन्‍हें धर्म, नीति और...

मित्र की असलियत

मित्र की असलियत मित्र की असलियत एक सेठ था। उसका बहुत बड़ा व्‍यापार था। सेठ का एक ही बेटा था। जब वह बड़ा हुआ तो सेठ के साथ व्‍यापार में...

चतुर व्‍यापारी

चतुर व्‍यापारी चतुर व्‍यापारी किसी जन्‍म में भगवान् बुद्ध एक व्‍यापारी के घर पैदा हुए। वह व्‍यापारी नगर में फेरी लगाकर अपनी चीजें बेचता था। उसी नगर में सेरिव नाम...

बकरी दो गॉंव खा गई

बकरी दो गॉंव खा गई बकरी दो गॉंव खा गई “हाय, बकरी दो गॉंव खा गई।“ एक आदमी आगरा की सड़कों पर रोता-चिल्‍लाता घूम रहा था। लोग आश्‍चर्य में थे...

कछुआ और हंस

कछुआ और हंस कछुआ और हंस एक दिन अचानक आकाश से कुछ कछुआ बाजार में गिरा और मर गया। कछुआ बाजार की मुख्‍य सड़क पर गिरा था। कुछ ही देर...

समझदारी का महत्‍त्‍व

समझदारी का महत्‍त्‍व समझदारी का महत्‍त्‍व एक आदमी था। उसके पास एक अशरफी थी। उसे अचानक रुपयों की आवश्‍यकता पडी। उसने सोचा—क्‍यों ने इस अशरफी को बेचकर रुपए ले लूँ।...

लकड़हारे की कहानी

लकड़हारे की कहानी लकड़हारे की कहानी एक लकड़हारा था। वह रोज जंगल में जाता था। वहॉं से वह लकडि़यॉं काटकर लाता था। इन्‍हीं लकडि़यों को बेचकर वह अपना परिवार चलाता...

एकता में शक्ति

एकता में शक्ति एकता में शक्ति एक जंगल में तीतर पक्षियों का बहुत बड़ा झुंड था। वे निर्भय होकर जंगल में रहते थे। इसी कारण उनकी संख्‍या भी बढ़ती जा...
Close
Social profiles